Connect with us

INDIA

कर्नाटक के डीजीपी प्रवीण सूद बने सीबीआई के चीफ

Published

on

कर्नाटक के पुलिस महानिदेशक (DGP) प्रवीण सूद को केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के अगले निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है। रविवार को एक सरकारी आदेश में यह जानकारी दी गई। अधिकारियों ने बताया कि सूद कर्नाटक कैडर के 1986 बैच के भारतीय पुलिस सेवा (IPS) के अधिकारी हैं। सीबीआई निदेशक सुबोध कुमार जायसवाल का 2 साल का निर्धारित कार्यकाल 25 मई को समाप्त हो जाएगा। अधिकारियों ने बताया कि सूद को 2 साल की अवधि के लिए सीबीआई निदेशक नियुक्त किया गया है।

कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग की ओर से इसे लेकर एक आदेश जारी किया गया। इसमें कहा गया कि सुबोध कुमार जायसवाल का कार्यकाल पूरा होने के बाद प्रवीण सूद की 2 साल के लिए सीबीआई निदेशक के रूप में नियुक्ति हुई है, जिसे लेकर सक्षम प्राधिकारी की मंजूरी से अवगत कराया जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, चीफ जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ और विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने शनिवार शाम को उच्च स्तरीय समिति की बैठक में हिस्सा लिया था। सीबीआई डायरेक्टर पद को लेकर उम्मीदवार के नाम पर फैसला करने के मकसद से यह मुलाकात हुई।

Advertisement

हिंदुस्तान टाइम्स ने बताया था कि 1986 बैच के आईपीएस अधिकारी प्रवीण सूद इस पद के लिए सबसे आगे थे। शॉर्टलिस्ट किए गए अन्य लोगों में मध्य प्रदेश पुलिस के DGP एसके सक्सेना और अग्निशमन सेवा, नागरिक सुरक्षा और होम गार्ड के महानिदेशक ताज हसन थे। सूद अगले साल मई में रिटायर्ड होने वाले थे। अब उनका कार्यकाल 5 साल तक बढ़ सकता है। चलिए जानते हैं कि आखिर कैसे सक्सेना और हसन पर प्रवीण सूद भारी पड़े और CBI के नए निदेशक बने।

कौन हैं CBI के नए डायरेक्टर प्रवीण सूद?

Advertisement

– प्रवीण सूद का जन्म 1964 में हिमाचल प्रदेश में हुआ। वह इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) दिल्ली से पढ़े हुए हैं।

– सूद 1986 में भारतीय पुलिस सेवा (IPS) में शामिल हुए। उनकी पहली पोस्टिंग 1989 में मैसूर में हुई। वह 2004 और 2007 के बीच कर्नाटक शहर के पुलिस आयुक्त रहे। 2008 से 2011 तक सूद बेंगलुरु के लिए अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (यातायात) नियुक्त हुए।

Advertisement

Advertisement

– प्रवीण सूद 2013 में कर्नाटक राज्य पुलिस आवास निगम के प्रबंध निदेशक नियुक्त किए गए। उन्होंने केवल 9 महीनों में कंपनी का कारोबार 160 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 282 करोड़ रुपये कर दिया गया।

– सूद ने राज्य की राजधानी बेंगलुरु के लिए पुलिस आयुक्त के रूप में भी काम किया है। उन्हें संकट में फंसे लोगों के लिए ‘नम्मा 100’ आपातकालीन प्रतिक्रिया सिस्टम स्थापित करने का श्रेय दिया जाता है।

Advertisement

– प्रवीण सूद को सर्विस में उत्कृष्टता के लिए 1996 में मुख्यमंत्री स्वर्ण पदक दिया गया। 2002 में सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक मिला और 2011 में विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति के पुलिस पदक से सम्मानित किया गया।

nps-builders

Advertisement
Advertisement

INDIA

साक्षी को 34 चाकू मारने वाले साहिल को नहीं पछतावा, बोला- सिखाया सबक

Published

on

दिल्ली के शाहबाद डेरी इलाके में 16 साल की लड़की साक्षी को 34 बार चाकू मारकर पत्थर से कुचलने वाले हैवान साहिल खान को अपनी करतूत पर कोई पछतावा नहीं है। साहिल का कहना है कि उसने साक्षी को सबक सिखा दिया है। पूछताछ में साहिल ने कुछ वेबसीरीज का भी नाम लिया है। जिसके बाद सवाल उठ रहा है कि क्या उसने किसी साइको किलर वाली वेबसीरीज को देखने के बाद इस तरह के खौफनाक वारदात को अंजाम दिया।

साक्षी की हत्या के बाद बुलंदशहर से गिरफ्तार किए गए साहिल से दिल्ली पुलिस ककी एक टीम लगातार पूछताछ कर रही है। 2 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजे गए साहिल से हत्या का हर राज उगलवाने की कोशिश की जा रही है। पुलिस उससे ऑन कैमरा पूछताछ कर रही है। साहिल से राज उगलवाने के लिए पुलिस ने एक स्पेशल टीम बनाई है जिसमें वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा कुछ मनोवैज्ञानिक भी शामिल किए गए हैं। साहिल जितना क्रूर है उतना ही शातिर भी है। वह बार-बार पुलिस को गुमराह करने की कोशिश करता है। हालांकि, अब तक की पूछताछ में पुलिस ने घटना से जुड़े कई अहम सवाल के जवाब उससे उगलवाए हैं।

Advertisement

सूत्रों के मुताबिक, साहिल ने पूछताछ में कुछ वेबसीरीज का भी नाम लिया है। बताया जा रहा है कि उसने कुछ वेबसीरीज को देखकर इस तरह से वारदात को अंजाम देने का आइडिया लिया। पुलिस इस हत्या के ओटीटी कनेक्शन की भी पड़ताल कर रही है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने जब उससे यह पूछा कि उसने लड़की को क्यों मारा तो उसने दो टूक जवाब दिया, ‘मैंने साक्षी को सबक सिखा दिया। मुझे कोई पछतावा नहीं है।’

पुलिस ने जब उससे पूछा कि उसने इतनी बेरहमी से क्यों मारा तो बोला- मैं बता नहीं सकता। क्या साक्षी से झगड़ा हुआ था? इसके जवाब में साहिल ने कहा- मुझे कुछ नहीं बोलना। क्या साक्षी को पहले से जानते थे? इस सवाल का जवाब साहिल ने हां में दिया। कत्ल का आइडिया कहां से आया? इसके जवाब में कातिल ने कहा, ‘बस मारना था और मैंने मार दिया।’ साहिल ने अभी तक यह नहीं बताया है कि हत्या में इस्तेमाल चाकू उसने कहां फेंका है।

Advertisement

Source : Hindustan

nps-builders

Advertisement
Continue Reading

INDIA

नेविगेशन सैटेलाइट एनवीएस-1 का प्रक्षेपण सफल, अब सेना होगी और सशक्त

Published

on

धरती से लेकर अंतरिक्ष तक भारत की उपलब्धियों की फेहरिस्त लंबी होती जा रही है। सोमवार को इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन यानी ISRO ने सफलतापूर्वक नेविगेशन सैटेलाइट NVS-1 को लॉन्च कर दिया है। खास बात है कि यह अंतरिक्ष यान नेविगेशन विद इंडियन कॉन्स्टेलेशन (NavIC) सीरीज का हिस्सा है। इसरो इसके जरिए मॉनिटरिंग और नेविगेशन के क्षेत्र में क्षमता बढ़ाना चाहता है।

https://twitter.com/ANI/status/1663052195343007744

Advertisement

अंतरिक्ष एजेंसी ने दूसरी पीढ़ी की नौवहन उपग्रह श्रृंखला के प्रक्षेपण की योजना बनाई है जो नाविक (जीपीएस की तरह भारत की स्वदेशी नौवहन प्रणाली) सेवाओं की निरंतरता सुनिश्चित करेगी। यह उपग्रह भारत और मुख्य भूमि के आसपास लगभग 1,500 किलोमीटर के क्षेत्र में तात्कालिक स्थिति और समय से जुड़ी सेवाएं देगा।

इसरो के सूत्रों ने बताया कि प्रक्षेपण के लिए उल्टी गिनती रविवार को सुबह सात बजकर 12 मिनट पर शुरू हो गई थी। खबर है कि 51.7 मीटर लंबा जीएसएलवी अपनी 15वीं उड़ान में 2,232 किलोग्राम वजनी एनवीएस-01 नौवहन उपग्रह को लेकर रवाना हो गया।

Advertisement

इसरो ने कहा कि प्रक्षेपण के करीब 20 मिनट बाद, रॉकेट लगभग 251 किमी की ऊंचाई पर भू-स्थिर स्थानांतरण कक्षा (जीटीओ) में उपग्रह को स्थापित करेगा।

एनवीएस-01 अपने साथ एल1, एल5 और एस बैंड उपकरण ले जाएगा। पूर्ववर्ती की तुलना में, दूसरी पीढ़ी के उपग्रह में स्वदेशी रूप से विकसित रुबिडियम परमाणु घड़ी भी होगी। इसरो ने कहा कि यह पहली बार है जब स्वदेशी रूप से विकसित रुबिडियम परमाणु घड़ी का सोमवार के प्रक्षेपण में इस्तेमाल किया जाएगा।

Advertisement

NavIC एक रीजनल नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम है, जिसे ISRO ने तैयार किया है। यह सात सैटेलाइट्स का एक समूह है, जो ग्राउंड स्टेशन्स के साथ मिलकर काम करता है। यह नेटवर्क नेविगेशन से जुड़ी सेवाएं देता है। कहा जा रहा है कि नागरिक उड्डयन के क्षेत्र में बेहतर सेवाएं देने के लिए इस सिस्टम को तैयार किया गया है। यह भारतीय सीमा से आगे तक 1500 किमी के क्षेत्र का नेटवर्क कवर करता है।

खबर है कि 1999 में करगिल युद्ध के दौरान भारत को जब मदद की जरूरत पड़ी, तो अमेरिका के हाथों निराशा मिली। GPS मदद से इनकार किए जाने के बाद भारत अपना नेविगेशन सिस्टम तैयार करने लगा था। इसे 2006 में अप्रूव किया गया और माना जा रहा था कि इसे 2011 तक इसे तैयार कर लिया जाएगा। हालांकि, यह पूरी तरह तैयार 2018 तक हो सका।

Advertisement

इस तकनीक का इस्तेमाल जमीन, हवा और पानी में होने वाले परिवहन पर हो सकता है। साथ ही यह लोकेशन आधारित सेवाओं के लिहाज से भी काफी अहम है। ISRO का मानना है कि दूसरी पीढ़ी की नेविगेशन सैटेलाइट सीरीज में NVS-1 पहला है। यह नाविक की विरासत को बनाए रखेगा और Li बैंड में नई सेवाए देगा।

Source : Hindustan

Advertisement

nps-builders

Continue Reading

INDIA

हिरासत में लिए गए पहलवान, जंतर-मंतर से दिल्ली पुलिस ने उखाड़े तंबू

Published

on

भारतीय कुश्ती संघ (डब्ल्यूएफआई) के प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ एक महीने से अधिक लंबे पहलवानों के धरने को लेकर दिल्ली पुलिस ने सख्त रुख अपना लिया है. दिल्ली पुलिस ने जंतर-मंतर से नए संसद भवन की ओर मार्च कर रहे पहलवानों को हिरासत में ले लिया. दिल्ली पुलिस ने जंतर-मंतर से पहलवानों का तंबू भी हटा दिया है.

बताया जाता है कि बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ 23 अप्रैल से जंतर-मंतर पर धरना दे रहे पहलवानों ने नए संसद भवन तक शांतिपूर्ण मार्च का ऐलान किया था. पहलवान पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक 11 बजकर 30 मिनट पर नए संसद भवन के लिए निकले. दिल्ली पुलिस ने पहलवानों को रोकने के लिए बैरिकेडिंग कर रखी थी.

Advertisement

नए संसद भवन तक जाने के लिए निकले पहलवानों ने बैरिकेडिंग तोड़ दी. पुलिस ने साक्षी मलिक समेत कुछ पहलवानों को हिरासत में ले लिया. पहलवान नए संसद भवन तक शांतिपूर्ण मार्च निकालने पर अड़े रहे. पहलवानों ने शांतिपूर्ण मार्च निकालने को अपना अधिकार बताया और दिल्ली पुलिस पर देश विरोधी कहने का भी आरोप लगाया.

https://twitter.com/SwatiJaiHind/status/1662728873476526080

Advertisement

पुलिस ने जब बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट और साक्षी मलिक को हिरासत में ले लिया तो वह सड़क पर ही धरने पर बैठ गए. इससे पहले विनेश फोगाट ने वीडियो जारी कर आरोप लगाए थे कि महिला महापंचायत में शामिल होने आ रहे सभी लीडर्स को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

फोगाट बहनों की फोटो ट्वीट कर DCW चीफ ने किया तंज

Advertisement

दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने फोगाट बहनों की एक तस्वीर ट्वीट किया है. इस तस्वीर में दोनों बहनें एक-दूसरे से लिपटकर रोड पर लेटी नजर आ रही हैं. कहा जा रहा है कि पुलिस ने जब पहलवानों का नए संसद भवन तक मार्च से रोका और उन्हें हिरासत में लेने की कोशिश की तब दोनों बहनें एक-दूसरे से लिपटकर रोड पर ही लेट गईं.

https://twitter.com/SwatiJaiHind/status/1662722160413278212

Advertisement

इस तस्वीर को ट्वीट करते हुए स्वाति मालिवाल ने दिल्ली पुलिस को घेरा. दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख ने अपने ट्वीट में कहा है कि इन लड़कियों ने विदेशी सरजमीं पर तिरंगा ऊंचा किया था. आज इन बेटियों को ऐसे घसीटा जा रहा है और तिरंगा ऐसे सड़क पर अपमानित हो रहा है.

पहलवान बजरंग पूनिया ने भी मीडिया से बात करते हुए कहा था कि हम 11:30 बजे नई संसद की ओर कूच करेंगे. मैं पुलिस प्रशासन से अपील करूंगा कि हम शांतिपूर्वक जाएंगे, हमें परेशान न किया जाए. सभी से अनुरोध है कि शांति बनाए रखें. पूनिया ने आरोप लगाया था कि पुलिस के अधिकारी बदतमीजी कर रहे हैं. परिवारों को भी अंदर नहीं आने दिया जा रहा है. आज महा पंचायत होगी. हमने इसकी अनुमति के लिए कल ही आवेदन दे दिया था. पुलिस हमारे लोगों को गुमराह कर रही है. हमसे कोई बातचीत नहीं हुई है.

Advertisement

सरकार समझौते का दवाब बना रही: विनेश फोगाट

इससे पहले मीडिया से बात करते हुए विनेश फोगाट ने आरोप लगाया था कि सरकार हम पर समझौते का दबाव बना रही है, लेकिन हम समझौते के लिए तैयार नहीं है क्योंकि जो शर्त रखी जा रही है वो बृजभूषण की गिरफ़्तारी की बिल्कुल नहीं है. नई संसद के सामने होने वाली महिला सम्मान महापंचायत होकर रहेगी.

Advertisement

दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था चुस्त

पहलवानों के नई संसद कूच के ऐलान को देखते हुए दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था चुस्त कर दी गई थी. ईस्ट दिल्ली की डीसीपी अमृता गुगुलोथ ने कहा कि दिल्ली पुलिस इस तरह के मामलों से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है. हमारे पास अतिरिक्त मात्र में सुरक्षा बल है और सभी की तैनाती की गई है. वहीं टिकरी बॉर्डर पर भी पुलिस ने सुरक्षा कड़ी कर दी थी क्योंकि खाप पंचायत के नेताओं और किसानों ने नए संसद भवन की ओर प्रदर्शनकारी पहलवानों के मार्च में शामिल होने की घोषणा की थी.

Advertisement

बुलंदशहर में धरने पर बैठे किसान नेता

इधर, जंतर-मंतर जाने से पहलवानों पर हुई कार्रवाई पर भाकियू (टिकैत) कार्यकर्ता भड़क गए. NH-34 को जाम करके वे लोग नेशनल हाइवे पर ही धरने पर बैठ गए. सूचना मिलते ही एसपी सिटी और पुलिसवाले मौके पर पहुंच गए.

Advertisement

Source : Aaj Tak

nps-builders

Advertisement
Continue Reading
BIHAR1 day ago

बिहार के 9 जिलों में हीट वेव का अलर्ट, चलेगी गर्म पछुआ हवा

BIHAR1 day ago

नौकरी नहीं मिलने से परेशान युवक ने गला काट कर की आत्महत्या, बेसहारा मां का था एकलौता चिराग

VIRAL1 day ago

मोबाइल के लिए शौहर को छोड़ आई सबा .. सोशल मीडिया चलाने से रोकने पर साले ने तान दी बन्दूक

WORLD2 days ago

देश के मुसलमानों की हालत दलितों जैसी, US में बोले राहुल गांधी; बयान पर फिर मचा बवाल

INDIA2 days ago

साक्षी को 34 चाकू मारने वाले साहिल को नहीं पछतावा, बोला- सिखाया सबक

DHARM2 days ago

साल की सबसे बड़ी निर्जला एकादशी आज, जाने इस तिथि का महत्व

BIHAR2 days ago

पटना: पत्नी प्रेमी के साथ हुई फरार तो गुस्से में आकर पति ने रेल जंक्शन को उड़ाने की दी धमकी

MUZAFFARPUR2 days ago

साहेबगंज विधायक राजू सिंह की अग्रिम जमानत याचिका कोर्ट में दाखिल

VIRAL3 days ago

पिता ने ज्यादा दहेज़ दिया तो महिला ने पति-सास के लिए खाना बनाने से किया इंकार, कहा- नौकरानी रख लो

BIHAR3 days ago

वौष्णों देवी जा रही बस खाई में गिरी, बिहार के 10 लोगों की मौत, 56 घायल

BOLLYWOOD1 week ago

60 साल की उम्र में दूसरी बार दूल्हा बने अभिनेता आशीष विद्यार्थी

MUZAFFARPUR2 weeks ago

बाबा गरीबनाथ की नगरी में दिव्य दरबार लगाएंगे बागेश्वर सरकार! स्थल निरिक्षण करने पहुंची टीम

BIHAR1 week ago

8 साल पहले सिर से उठा था पिता का साया, बेटी ने IAS टॉपर बन लौटाई मां की मुस्‍कान

INDIA2 weeks ago

बिना कोचिंग-ट्यूशन मजदूर की बेटी बनी टॉपर, 500 में पाए 496 नंबर, आईपीएस बनने का सपना

BIHAR4 weeks ago

वैशाली में NH-28 पर भीषण सड़क हादसा, ओवरटेक कर रही कार ट्रक से जा भिड़ी; एक ही परिवार के 5 लोगों की मौत

BIHAR3 days ago

वौष्णों देवी जा रही बस खाई में गिरी, बिहार के 10 लोगों की मौत, 56 घायल

BIHAR1 week ago

UPSC में बिहार की बादशाहत कायम … बक्सर की बेटी गरिमा लोहिया को मिला दूसरा रैंक

VIRAL2 weeks ago

हैवानियत : न कांपे हाथ न पसीजा कलेजा, इकलौते बेटे ने मां-बाप को तड़पा-तड़पाकर मारा

AUTOMOBILES2 weeks ago

10 साल की वारंटी और कीमत बेहद कम! हौंडा ने इन राज्यों में स्पेशल प्राइस में लॉन्च की ये सस्ती बाइक

EDUCATION3 weeks ago

CBSE रिजल्ट में इंद्रप्रस्थ इंटरनेशनल स्कूल ने कायम किया कीर्तिमान, 60 से ज्यादा बच्चों ने पाए 90% से अधिक अंक

Trending